Saturday, 1 June 2013

कैसी कैसी बिसात

दुनिया में हर कोई ज्ञानी दिया दिखाई 
सबके जख्मों से उसे चीख दी सुनाई .
हम सदमे से मर गये इस दुनिया के 
शातिर ने कैसी कैसी बिसात बिछाई .- विजयलक्ष्मी 

No comments:

Post a comment