Wednesday, 3 October 2012

दिल आइना सा है ..

मुश्किलें यही है कि दिल आइना सा है दिमाग सोचता बहुत ,
अन्धरें में अक्स और रोशन हुए विचार तूफ़ान बहुत लाते है ..-- विजयलक्ष्मी

No comments:

Post a comment