Tuesday, 19 March 2013

आओ करें स्वागत सब ..



जीवन संग लिए नव किरण चली आई ,
रंग सिंदूरी लिए धरती से मिलने आई ,
पंछियों के कलरव से मीठी तान सुनाई ,
सूर्य ने भी बढकर जीवन ज्योत जलाई ,
खुशियों के रंगों से धरती भी मुस्काई ,
आओ करें स्वागत सब ,नव बेला आई
-- विजयलक्ष्मी 

No comments:

Post a comment