Saturday, 2 March 2013


गर जिंदगी है बाकी ..मेरी तारीकियों के चलते ,
दुआ कर ,सितारा कभी कोई रोशन न हों जिंदगी का
..विजयलक्ष्मी 

No comments:

Post a comment