Thursday, 15 March 2018

पनस ,रसाल और पाटल

 मानस अनुसार पहला पाटल यानी गुलाब का पुष्प गुलाब पे पुष्प तो आते है और बहुत सुंदर भी होते है सबका मन मोहते है पर फल नहीँ आते इसी तरह कुछ लोग कहते तो बहुत कुछ है पर करते कभी नहीं , अब दूसरे तरिके के लोग रसाल यानी रस से भरा हुआ जैसे आम अब आम के वृक्ष पे फूल भी आते है और फिर फल भी आते है इस वर्ग के पुरुष कहते है और करते भी है अब तीसरा शब्द पनस इसका अर्थ है कटहल इस वृक्ष पे फूल नहीँ आते सीधे फल लगते है इस वर्ग के पुरुष कुछ कहते नहीँ कभी शेखी नही बघारते बस करते है इन सभी में उत्तम वर्ग पनस वर्ग के पुरुष है तदोपरांत रसाल फिर पाटल ||

No comments:

Post a comment